RE. incident at new maharashtra sadan



Download 4.11 Mb.
Page1/24
Date21.11.2016
Size4.11 Mb.
#2058
  1   2   3   4   5   6   7   8   9   ...   24


Uncorrected/ Not for Publication-24.07.2014


SKC-VNK/1A/11.00

The House met at eleven of the clock,

MR. CHAIRMAN in the Chair.

---

MR. CHAIRMAN: Question 241. ...(Interruptions)... Please.

RE. INCIDENT AT NEW MAHARASHTRA SADAN

श्री नरेश अग्रवाल: माननीय सभापति महोदय, रूल 267 के तहत हम लोगों ने नोटिस दिया है। ...(व्यवधान)... महाराष्ट्र सदन में शिव सेना के एमपी ने जो व्यवहार किया है ...(व्यवधान)..

श्री सभापति: देखिए, इस वक्त क्वेश्चन ऑवर है।...(व्यवधान)...

श्री नरेश अग्रवाल: सर, महाराष्ट्र सदन में शिव सेना के एमपीज़ ने जो व्यवहार किया है ...(व्यवधान)..

श्री सभापति: नहीं, नहीं, यह बात...(व्यवधान).. later in the day, not now.

चौधरी मुनव्वर सलीम: माननीय सभापति जी, भारत मानवीय संवेदनाओं के लिए दुनिया में जाना जाता है। ...(व्यवधान)...

چودھری منور سلیم : مانئے سبھاپتی جی، بھارت مانوئے سنویدناؤ کے لئے دنیا میں جانا جاتا ہے ۔۔۔(مداخلت)۔۔۔

श्री बिश्वजीत दैमारी: अभी क्वेश्चन ऑवर चलने दीजिए।

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, may I request that you allow a discussion after the Question Hour on this issue? ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: No; no, please. ...(Interruptions)...

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, we had given notice. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: Yechuryji, our priority today is the discussion on the Budget. ...(Interruptions)... We cannot complete it. ...(Interruptions)...

SHRI BISWAJIT DAIMARY: Please allow one question. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: We cannot complete it. ...(Interruptions)... We still have seven hours time left. ...(Interruptions)...

श्री नरेश अग्रवाल: सर, सरकार की तरफ जवाब दिलवा दीजिए। ...(व्यवधान)...

SHRI SITARAM YECHURY: Yes, Sir. We would complete that. ...(Interruptions)... We sat till 9.20 p.m. to finish the discussion on the Railway Budget. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: Let us get on with the Question Hour now; please. ...(Interruptions)...

श्री सत्यव्रत चतुर्वेदी: सर, यह बहुत गंभीर मामला है। ...(व्यवधान)...

चौधरी मुनव्वर सलीम: वहां पर शिव सेना के सांसदों ने जो किया है, उस पर वे अपनी राय दें। ...(व्यवधान)...

چودھری منور سلیم : وہاں پر شیوسینا کے ممبران پارلیمنٹ نے جو کیا ہے، اس پر وہ اپنی رائے دیں ۔۔۔(مداخلت)۔۔۔

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, but this is also an important issue. ...(Interruptions)...

SHRI P. RAJEEVE: Sir, yesterday the Government had ...(Interruptions)...

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, all that we are asking is, after 12 o’clock, you allow us some time so that we could say what we have to say. ...(Interruptions)...

श्री शान्ताराम नायक: सर, इस बात का ख्याल रखना चाहिए। ...(व्यवधान)...

MR. CHAIRMAN: This was discussed this morning, and it was decided that at 12 o’clock we will go straight to resume the discussion on the Budget. ...(Interruptions)... Please ...(Interruptions)...

श्री सत्यव्रत चतुर्वेदी: माननीय सभापति महोदय, आपसे रिक्वेस्ट यह है कि क्वेश्चन ऑवर को सस्पेंड करके इस मुद्दे पर चर्चा करवा दीजिए ...(व्यवधान)... इस मुद्दे पर सरकार की तरफ से एक लफ्ज़ भी नहीं बोला जा रहा है। ...(व्यवधान)...

SHRI SITARAM YECHURY: Then we would also disrupt the Question Hour. ...(Interruptions)... It would be unfortunate, but we would also disrupt the Question Hour. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: Yechuryji, please allow the Question Hour now. ...(Interruptions)...

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, the hon. Prime Minister is also here and you could ask him to participate in the discussions here. ...(Interruptions)...

श्री सत्यव्रत चतुर्वेदी: यह सरकार जैसे * हो गई हो। ...(व्यवधान)...

यह घटना दिल्ली में घटी और इसकी देश भर में चर्चा हो रही है। ...(व्यवधान)... इस मुद्दे पर सरकार की तरफ से एक लफ्ज़ भी नहीं बोला जा रहा है। ...(व्यवधान)...

MR. CHAIRMAN: Let the hon. Minister come back with the facts. ...(Interruptions)... That is all. ...(Interruptions)... He will come back with the facts. ...(Interruptions)...

SHRI P. RAJEEVE: Sir, yesterday the Minister had given an assurance that he would ascertain the facts and the Government would come back to the House. ...(Interruptions)... That was the assurance given by the Government. ...(Interruptions)...

* Expunged as ordered by the Chair.

MR. CHAIRMAN: Let us go back to ...(Interruptions).... He will come back with the facts. ...(Interruptions)...

SHRI SITARAM YECHURY: So, please ask him if he has done his job. ...(Interruptions)... Do you have the facts? ...(Interruptions)...

श्री नरेश अग्रवाल: सर, पार्लियामेंटरी अफेयर्स मिनिस्टर बैठे हुए हैं। ...(व्यवधान)...

MR. CHAIRMAN: Later in the day, the hon. Minister of State for Parliamentary Affairs, after he has ascertained the facts, will intimate. That is all. ...(Interruptions)...

श्री सत्यव्रत चतुर्वेदी: सर, जब वह बोलेंगे, तो हमको क्लेरिफिकेशन पूछने का अधिकार तो मिलना चाहिए। ...(व्यवधान)...

श्री सभापति: पहले आप सुन तो लीजिए। उनके बोलने से पहले आप क्लेरिफिकेशन कैसे मांगेंगे? ...(व्यवधान)... Let me...(Interruptions)...

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, ask him whether he would make a statement. ...(Interruptions)...

SHRI P. RAJEEVE: Sir, this is a very sensitive issue. ...(Interruptions)... It is about secularism as given in the Constitution. ...(Interruptions)...
श्री के. सी. त्यागी: सर, सबकी जांच क्या होती है? ...(व्यवधान)...

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, 24 hours have passed since he gave the assurance that he will come back to the House after ascertaining the facts. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: He did not say that he would come back at 11 o’clock. ...(Interruptions)... This is 11 o’clock; we have a listed Business for 11 o’clock. ...(Interruptions)...

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, he had said, he would come back to the House after ascertaining the facts. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: That is fine. ...(Interruptions)... Let him come back later in the day and indicate the position. ...(Interruptions)...

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, he is ready. ...(Interruptions)...

श्री सभापति: भाई, क्वेश्चन ऑवर चलने दीजिए। ...(व्यवधान)...

श्री आनन्द शर्मा: सर, यह गवर्नमेंट के भी इन्टरेस्ट में है कि सदन चले और हम भी चाहते हैं कि सदन चले, मगर सरकार इस पर स्पष्ट करे। ...(व्यवधान)... यह गंभीर घटना है, इसको नज़रअंदाज़ नहीं कर सकते, यह हिन्दुस्तान की शक्ल की बात है, क्योंकि प्रधान मंत्री जी भी बैठे हैं, सरकार बैठी है, उसके बाद सदन चलेगा, जो हमने कहा है।

श्री सभापति: ठीक है ...(व्यवधान)... देखिए ...(व्यवधान)...

श्री आनन्द शर्मा: बारह बजे से बजट पर बहस होगी, वह चर्चा जारी रहेगी और वह आज समाप्त होगी, जैसा तय हुआ है। चूंकि यह विषय उठा है और ऐसी बात नहीं है कि यह मामूली विषय है, इसलिए इस पर सरकार की तरफ से बात आ जाए। मीडिया इसको दिखा रहा है, मीडिया छाप रहा है, अभी फिर जांच की क्या बात हो गई? ...(व्यवधान)... सरकार की तरफ से इस पर बयान आ जाए, सरकार बता दे कि क्या बात है। ...(व्यवधान)...

श्रीमती विप्लव ठाकुर: उनमें जरा सी भी * नहीं है, रिग्रेट नहीं है।...(व्यवधान)...

श्री सीताराम येचुरी: सर, मेरा प्वाइंट यह है कि कल मंत्री महोदय ने कहा था कि जो actual facts हैं, उनको ascertain करके वापस आएंगे, लेकिन 24 घंटे हो गए हैं ...(व्यवधान)... Let the Minister state what the facts are that he has ascertained are. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: You give him the opportunity. ...(Interruptions)...

श्री सीताराम येचुरी: सर, हम आपसे यही गुजारिश कर रहे हैं कि मंत्री जी से मालूम करिए कि उन्होंने facts ascertain किए या नहीं? अगर किए हैं, तो बता दें। ...(व्यवधान)...

श्री आनन्द शर्मा: सर, यह गंभीर विषय है, इसलिए इस पर संसद को भी बोलना है और सरकार को भी बोलना है, इसको मना नहीं किया जा सकता है। ...(व्यवधान)...
* Expunged as ordered by the Chair.
SHRI SITARAM YECHURY: Sir, he told the House that he would ascertain the facts. ...(Interruptions)... All that we are asking is if he has ascertained the facts. If he has ascertained the facts, then please tell us. ...(Interruptions)...

श्री सभापति: नहीं, नहीं, एक मिनट ...(व्यवधान)... एक मिनट ...(व्यवधान)...

SHRI P. RAJEEVE: Sir, this is a very sensitive issue, concerning secularism. ...(Interruptions)... Photographs are available. ...(Interruptions)...

श्री सभापति: भाई, क्वेश्चन ऑवर चलने दीजिए। ...(व्यवधान)...

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, the Minister is ready. ...(Interruptions)...

SHRI P. RAJEEVE: Sir, all photographs are available. All video clippings are available. ...(Interruptions)... It is an issue that relates to secularism. ...(Interruptions)...

SHRI BAISHNAB PARIDA: Sir, a wrong message is being sent out. We must...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: That is all.

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, you know that I am always reasonable. I am making a very reasonable request -- 24 hours have passed since the Minister assured the House that he would ascertain the facts and come back.

(CONTD. BY KSK/1B)


skc/vnk -- KSK/PSV/11.05/1B

SHRI SITARAM YECHURY (CONTD.): Now, we just want to know whether he has ascertained the facts or not. If yes, please come back. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: He has said that he will come back. ...(Interruptions)... Yes, Venkaiahji.

THE MINISTER OF PARLIAMENTARY AFFAIRS (SHRI M. VENKAIAH NAIDU): Mr. Chairman, Sir, it is a very sensitive matter, and also a serious matter about the incident that has taken place in Maharashtra Sadan. Yesterday, the Chair had told the Minister of State (Parliamentary Affairs) that he had to ascertain the facts and then inform the Members. We are ascertaining the facts. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: Just one minute. ...(Interruptions)... बैठ जाइए। ...(व्यवधान)... बैठ जाइए। ...(व्यवधान)...

SHRI PARVEZ HASHMI: What more facts do you require now? ...(Interruptions)...

SHRI M. VENKAIAH NAIDU: Sir, it is a matter pertaining to the Members and it is a matter that is supposed to have happened in a particular State Government premises. ...(Interruptions)...

PROF. SAIF-UD-DIN SOZ: Nobody is above law. ...(Interruptions)...

श्री सभापति: इनकी बात सुन लीजिए। ...(व्यवधान)... सोज़ साहब, आप इनकी बात सुन लीजिए।...(व्यवधान)...

SHRI M. VENKAIAH NAIDU: Hon. Member is sitting and talking. Is it as per rules and law? Sir, my humble submission is: I do agree that it is a serious matter. It is a sensitive matter. We are ascertaining the full facts. I am trying to submit to the House the position concerning the charges against some MPs, and secondly, it has happened in the premises of a particular State Government Bhavan. So, we have to find out the full details and then only we can respond. Otherwise, you know, Members of Parliament also, if you take their names and if you go on discussing, then they will also have their own this thing. So, what I am suggesting is that we have a listed Business today. Let us complete that Business. I assure you that by tomorrow, we will come back and...

MR. CHAIRMAN: This is good enough. Question 241. ...(Interruptions)...

SHRI SITARAM YECHURY: Sir, 24 hours have passed. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: Let the question be answered. ...(Interruptions)... Please, Yechuryji...(Interruptions)...

SHRI SITARAM YECHURY: Please, through you, Sir, I would like to ask the hon. Minister. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: I think the position is now clear.

SHRI SITARAM YECHURY: I think the position is same. An assurance was given yesterday, “We will come back to you tomorrow.” Now, today, you are saying, “Tomorrow”. Tomorrow of tomorrow will remain tomorrow of tomorrow. It will remain the same. ...(Interruptions)...

MR. CHAIRMAN: Please, Yechuryji.

SHRI SITARAM YECHURY: We request that you give us an assurance.

MR. CHAIRMAN: Yechuryji, enough has been said. Now, Question 241.

(Ends)



Q.No.241

श्री बिश्वजीत दैमारी: सर, जो डोनर मंत्रालय है, इसको हमारे प्रधान मंत्री श्री वाजपेयी जी के समय नॉर्थ-ईस्ट के विकास के लिए खोला गया था, लेकिन जिस तरह से नॉर्थ-ईस्ट के सारे लोगों को इससे उम्मीद थी, वह वास्तव में नहीं हो पाया। इस मंत्रालय के जरिए जितनी भी परियोजनाएँ ली जाती हैं, उनको सैंक्शन देने में या फंड रिलीज़ करने में बहुत ही विलम्ब हो जाता है। अगर इस साल कोई परियोजना भेजी जाती है, तो दो-तीन साल के बाद वह प्रोजेक्ट सैंक्शन किया जाता है। अगर इसी तरह होता रहेगा, तो इस मंत्रालय के जरिए नॉर्थ-ईस्ट का विकास करने के लिए जो योजना ली गई थी, वह कभी सफल नहीं हो पाएगी। मेरे प्रश्न के उत्तर में कुछ कारण बताए गए हैं। इनमें यह है कि संबंधित मंत्रालय को भेजना पड़ता है, वहाँ पर तकनीकी क्लीयरेंस होना चाहिए, फंड का भी क्लीयरेंस होना चाहिए और वहाँ पर सब कुछ एग्जामिन भी होना चाहिए।

सर, मैं आपके जरिए मंत्री महोदय से पूछना चाहता हूँ कि डोनर मंत्रालय खुद अपने मंत्रालय में ही इन सारी चीज़ों का क्लीयरेंस करने के लिए ऐसा कोई सेक्शन या कोई ब्रांच क्यों नहीं खोल सकता है, जिससे दूसरे मंत्रालयों पर इन सारी चीज़ें के लिए निर्भर करने की जरूरत न हो? प्रोजेक्ट्स में जितनी भी कमियाँ आती हैं, शॉर्टकमिंग्स आती हैं, वह हमारे नॉर्थ-ईस्ट के सारे राज्यों के
Q.No.241- contd.

टेक्निकल परसन को लेकर बात करे और एडवाइस दे, ताकि इसमें करेक्शन करने के लिए एक भी डीपीआर वापस न जाए।

जनरल (सेवानिवृत्त) वी.के. सिंह: माननीय सभापति महोदय, मैं सदस्य की चिन्ता से पूर्णतया सहमत हूँ। मैं आपके माध्यम से सदन को बताना चाहूँगा कि इस बारे में विचार किया जा रहा है कि हम किस प्रकार इस प्रणाली को और सुव्यवस्थित कर सकें। इसके बारे में गहन सोच-विचार चल रहा है, क्योंकि हम भी जानते हैं कि जो कुछ हमने अभी इनहेरिट किया है, उसके अन्दर कुछ कमियाँ हैं, जिनको ठीक किया जा रहा है और मुझे पूरी उम्मीद है कि समय आने पर इसके अन्दर तेज़ी लायी जाएगी।

(1सी/डी.एस. पर आगे)

DS-GSP/11.10/1C

श्री सभापति: दूसरा प्रश्न। ..(व्यवधान)..

श्री बिश्वजीत दैमारी: सर, मेरा दूसरा प्रश्न यह है कि इसमें बताया गया है कि वहाँ के लिए पर्याप्त बजट आवंटन नहीं है, यानी वहाँ के लिए एडिक्वेट फंड एलॉकेशन नहीं मिलता है, इसलिए वहाँ पर इसे टाइम पर इम्प्लीमेंट नहीं किया जा रहा है। लेकिन, जहाँ तक मैं जानता हूँ, सारे मंत्रालयों से 10 परसेंट फंड नॉन लैप्सेबल रूप में नॉर्थ-ईस्ट के लिए दिया जाता है, तो 10 परसेंट वाला यह सारा फंड किस मंत्रालय के ज़रिए दिया जाता है? अगर DoNER की स्थापना

Q.No.241- contd.

की गई है, तो उसके माध्यम से यह क्यों नहीं दिया जा रहा है, यह सारा फंड कहाँ जा रहा है? इस बजट में भी यह मेंशन किया गया है कि नॉर्थ-ईस्ट के लिए आवंटन 53,706 करोड़ रुपये है। अगर DoNER के पास पैसा ही नहीं है, तो यह सारा पैसा किस लाइन से खर्च किया जाता है?

जनरल (सेवानिवृत्त) वी.के. सिंह: माननीय सभापति महोदय, कुछ मंत्रालय एग्जेम्प्ट किए गए हैं और जो 10 परसेंट का नॉन लैप्सेबल फंड है, उसके अंदर उनका पैसा नहीं लिया जाता, बल्कि यह पैसा मंत्रालय खुद अपने कार्यों के द्वारा नॉर्थ-ईस्ट के अंदर लगाने का प्रयास करता है और इसके ऊपर हमारे मंत्रालय का कोई कंट्रोल नहीं है। मैं आपके द्वारा सदन को बताना चाहूँगा कि इस प्रणाली को सुव्यवस्थित करने के लिए हम लोग इस बात पर सोच-विचार कर रहे हैं कि फिलहाल नोशनल अमाउंट को किस तरीके से असलियत में बदला जाए।

श्री तरुण विजय: सभापति महोदय, पूर्वांचल क्षेत्र से लाखों बच्चे जब बंगलुरू, देहरादून और दिल्ली पढ़ने के लिए आते हैं तो वे पहली बार रेलगाड़ी देखते हैं। मैं माननीय मंत्री महोदय से पूछना चाहूँगा कि उत्तर-पूर्वांचल क्षेत्र में क्या एक भी ओलम्पिक स्टैंडर्ड का खेल स्टेडियम बना है? क्या गुवाहाटी के अलावा उत्तर-पूर्वांचल के किसी भी प्रदेश की राजधानी का दिल्ली से सीधा वायुयान से संबंध जोड़ा गया है? वहाँ के बच्चों को आर्चरी का प्रशिक्षण देने के लिए क्या कोई
Q.No.241- contd.

अंतर्राष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण केन्द्र या ऐसा कोई ट्रेनिंग सेंटर खुला है, यह मैं माननीय मंत्री जी से पूछना चाहता हूँ।

जनरल (सेवानिवृत्त) वी.के. सिंह: माननीय सभापति महोदय, हालांकि यह इस प्रश्न से ताल्लुक नहीं रखता है, फिर भी मैं माननीय सांसद को यह बताना चाहूँगा कि फिलहाल इम्फाल और दिल्ली के बीच एयर का डायरेक्ट लिंक है और हमारे अब के बजट में मणिपुर के अंदर स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी खोलने का प्रावधान किया गया है, जो अबकी बार बनेगी। स्पोर्ट्स को उन प्रदेशों में काफी गम्भीरता के साथ लिया जा रहा है, जहाँ से अच्छे खिलाड़ी आते हैं।

SHRI MANI SHANKAR AIYAR: Sir, as a former Minister of DoNER, I seek your permission to place the following question before the hon. Minister of DoNER. My question, Sir, is this: Do you not believe that we could make the release of funds much quicker and far more efficient, if you were to revive the 17 Working Groups that were established after the then Prime Minister of India released the document titled, "North-Eastern Region: Vision 2020" as also fulfill the legal obligation that the Minister of DoNER has to convert the North Eastern Council in Shillong into a Regional Planning Body for all of the North-East?


Download 4.11 Mb.

Share with your friends:
  1   2   3   4   5   6   7   8   9   ...   24




The database is protected by copyright ©sckool.org 2022
send message

    Main page